भारती एक्सा जनरल इंश्योरेंस

भारती एक्सा जनरल इंश्योरेंस ने कैंसर सर्वाईवर्स को सहयोग देने के लिए सैल्यूट टू केयरगिवर्स - एक नया नजरिया अभियान’ लॉन्च किया

इस जंग में हम संग हैं’ के नारे के साथ सभी लोगों को कैंसर के खिलाफ लड़ाई में इन अप्रत्यक्ष नायकों, ‘केयरगिवर्स’ का आभार व्यक्त करने के लिए प्रेरित किया

मुंबई/नई दिल्ली, 04 फरवरी, 2021 भारती एक्सा जनरल इंश्योरेंसभारत के अग्रणी बिज़नेस समूहों में से एकभारती इंटरप्राईजेस और दुनिया की सबसे बड़ी इंश्योरेंस कंपनियों में से एकएक्सा के बीच संयुक्त उपक्रम ने आज कैंसर के खिलाफ लड़ाई में कैंसर सर्वाईवर्स को सहयोग करने के लिए अपना अद्वितीय अभियान केयरगिवर्स’ प्रस्तुत किया।

विश्व कैंसर दिवस के अवसर पर कैंसर-मुक्त भविष्य के लिए प्रयास करने एवं पूरी दुनिया का ध्यान इस ओर आकर्षित करने के लिए यूनियन फॉर इंटरनेशनल कैंसर कंट्रोल द्वारा दुनिया को संगठित करने वाले इस अभियान के साथ भारती एक्सा जनरल इंश्योरेंस का मानना है कि सभी केयरगिवर्स - दोस्तपरिवार एवं अन्यकैंसर के खिलाफ लड़ाई में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।

इसकी भावना इस जंग में हम संग हैं’ के नारे में निहित है। इस अभियान की शुरुआत विश्व कैंसर दिवस से घंटों पहले भारती एक्सा जनरल इंश्योरेंस के सोशल मीडिया हैंडल्स एवं कवियित्री प्रिया मलिक के इंस्टाग्राम पेज पर एक कविता के साथ हुई। कंपनी इस जागरुकता अभियान द्वारा आज फेसबुकइंस्टाग्राम एवं लिंक्डइन पर लगभग एक मिलियन लोगों से संपर्क साधना चाहती है और कैंसर-मुक्त दुनिया हासिल करने में हर किसी भी भूमिका पर रोशनी डालने पर बल देती है।

सार्थक प्रभाव उत्पन्न करने के लिएभारती एक्सा जनरल इंश्योरेंस ने प्रतिष्ठित कवियित्री प्रिया मलिक के साथ सहयोग किया है। उन्होंने केयरगिवर के रूप में अपने अनुभव को प्रतिबिंबित करते हुए एक मार्मिक आभार, ‘नया नजरिया’ प्रस्तुत किया और हर जगह केयरगिवर्स के निस्वार्थ कार्यों पर प्रकाश डाला।

इस अभियान के बारे में श्री संजीव श्रीनिवासनएमडी एवं सीईओभारती एक्सा जनरल इंश्योरेंस ने कहा, ‘‘इस अभियान द्वारा हमारा उद्देश्य कैंसरमुक्त उज्जवल भविष्य हासिल करने में हर किसी की भूमिका पर रोशनी डालना है। कैंसर मरीज की सेहत के लिए केयरगिवर के शारीरिकभावनात्मक एवं मानसिक स्वास्थ्य के महत्व के बारे में जागरुकता फैलाया जाना बहुत जरूरी है। हम केयरगिवर्स के सामने आने वाली कठिन परिस्थितियों को देखते हुए अपना अभियान उन्हें समर्पित करते हैं और उनके साहसदृढ़ निश्चय एवं सहयोग के लिए उन्हें धन्यवाद देते हैं।’’

विभिन्न अध्ययनों के अनुसारस्वास्थ्य के बारे में जागरुकताकैंसर के विभिन्न स्तरों एवं उसके शारीरिक/मानसिक प्रभाव के ज्ञान तथा इलाज का ट्रैक रखने की विधियां कैंसर मरीजों को प्रभावशाली केयर प्रदान करने में आने वाली मुख्य समस्याएं हैं।

कैंसर मरीजों के केयरगिवर्स की भावनाओं को समझने एवं उनमें सहयोग करने के लिए भारती एक्सा जनरल ने 500 केयरगिवर्स के साथ एक अध्ययन कियाजिसमें उनकी चुनौतियोंशक्ति एवं औपचारिक सपोर्ट सिस्टम की उपयोगिता तथा कैंसर मरीज को सहयोग देने के लिए उनके द्वारा उठाए जाने वाले कदमोपर रोशनी डाली गई।

आशावादी बने रहना केयरगिवर्स की सबसे बड़ी चुनौती के रूप में उभरा 25 से 34 साल के बीच के लगभग 50 प्रतिशत केयरगिवर्स एवं 35 साल से अधिक उम्र के 54प्रतिशत केयरगिवर्स को यह समस्या हुई। इलाज के चरणखर्च एवं दवाईयों का ट्रैक रखना केयरगिवर्स के सामने आई अन्य चुनौतियों में शामिल था। 35 साल से अधिक उम्र के 52 प्रतिशत केयरगिवर्स को महसूस हुआ कि खुद/मरीज के लिए बीमारी को स्वीकार करना एक बड़ी चुनौती थाजबकि 25 से 34 साल के बीच के केवल 18प्रतिशत केयरगिवर्स इस बात पर सहमत थे और 18 से 24 साल के बीच के 29 प्रतिशत केयर गिवर्स ने यह बात स्वीकार की। इलाज के चरणदवाईयों एवं बीमारी को स्वीकार करना केयर गिवर्स के सामने आने वाली सबसे बड़ी तीन चुनौतियों में शामिल है।

50 प्रतिशत से ज्यादा केयरगिवर्स ने परिवार के सदस्योंअन्य केयरगिवर्स एवं सहयोगपूर्ण लोगों से बात करके तथा योगा/व्यायाम/ध्यान करके शक्ति  प्रेरणा पाई। 27से 28 प्रतिशत केयरगिवर्स ने थेरेपी/काउंसलिंग सत्रों की सुविधा का इस्तेमाल किया और औपचारिक सपोर्ट समूहों में भी गए। 50 प्रतिशत से ज्यादा केयरगिवर्स ने बताया कि कैंसर के विभिन्न चरणों एवं इलाज के शेड्यूल का ट्रैक रखने के माध्यमों का ज्ञान मुख्य गतिविधियां थींजिन पर वो कैंसर मरीजों को सहयोग करने के लिए केंद्रित थे।

विश्व कैंसर दिवस का उद्देश्य इस बीमारी के बारे में जागरुकता बढ़ाना है। भारती एक्सा जनरल इंश्योरेंस एवं यूगॉव द्वारा किए गए इस अध्ययन का लक्ष्य यह बताना है कि कैंसर के केयरगिवर्स तनावचिंताअवसादचिड़चिड़ेपन एवं तनाव का सामना करते हैं तथा जागरुकता एवं अन्य लोगों के सहयोग से उनका उत्साह बढ़ाने में मदद मिलेगी।

डब्लूएचओ के अनुसारदुनिया में हर मिनट कैंसर से 17 लोगों की जान जाती है। कैंसर पीड़ित मरीज समाज का सबसे नाजुक समूह माने जाते हैं। कैंसर  केवल मरीज कोबल्कि उसके पूरे परिवार एवं केयरगिवर्स को भी प्रभावित करता है।

इस उपयोगी अभियान द्वारा जागरुकता बढ़ाने एवं केयरगिवर के जीवन की झलक दिखाने के साथ कंपनी लोगों से आग्रह कर रही है कि वो केयरगिवर्स को सहयोग दें और उन्हें बताएं कि वो इस लड़ाई में अकेले नहीं हैं।

इसके साथ भारती एक्सा जनरल इंश्योरेंस सभी लोगों से दृढ़ खड़े रहने और केयरगिवर्स के लिए बेहतर जीवन सुनिश्चित करने का प्रयास करने का आग्रह करती है।

 

 


Comments

Popular posts from this blog

कोल्हापूर फिल्म कंपनी 'विठ्ठल दर्शन' अभिनेते जितेंद्र जोशी सादरीकरण करणार