हार्टफुलनेस निबंध कार्यक्रम’

हार्टफुलनेस इंस्टिट्यूटद्वारा छात्रों मेंमूल्य आधारित विचारधारा विकसितकरने के लिएआयोजित निबंधलेखन कार्यक्रमके विजेताओं

की    घोषणा 

  • हार्टफुलनेसके मार्गदर्शकश्री कमलेश पटेल (दाजी),अपोलो हॉस्पिटलकी वाईस-चेयरपर्सन उपासनाकामिनेनीभूतपूर्व ओलम्पिकविजेता अभिनवबिंद्राचीफ नेशनलबैडमिंटन कोचपुलेला गोपीचंद औरभारतीय पैरा-बैडमिंटन खिलाड़ीमानसी जोशी नेछात्रों कोभविष्य कानेतृत्व सँभालनेके लिएप्रेरित किया 

23 फरवरी 2021: हार्टफुलनेस एजुकेशनट्रस्ट ने ‘हार्टफुलनेस निबंध कार्यक्रम’ के 28 वेंसंस्करण केविजेताओं कीघोषणा कीजिसको सितम्बर 2020 में आरंभकिया गयाथाबसंतपंचमी केशुभ अवसरपर एकवर्चुअल उत्सवमें हार्टफुलनेसके मार्गदर्शकश्री कमलेशपटेल (दाजी), अपोलो हॉस्पिटलकी वाईस-चेयरपर्सन उपासनाकामिनेनीबैडमिंटनअकादमी केचीफ नेशनलबैडमिंटन कोचपुलेला गोपीचंदअभिनव फ्यूचरिस्टिक्सप्राइवेट लिमिटेडके संस्थापकएवं सीईओ भूतपूर्वओलम्पिक विजेताअभिनव बिंद्राऔर भारतीयपैरा-बैडमिंटनखिलाड़ीवर्तमान विश्वविजेता एवंप्रेरक मानसी जोशीने मिलकर 40 राष्ट्रीय विजेताओंऔर लगभग 280 राज्यस्तरीय विजेताओं केनामों कीघोषणा कीइन नेतृत्वकर्ताओंने उत्सवमें अपनेजीवन कीघटनाओं का उल्लेख कर छात्रोंको प्रेरितकिया

हार्टफुलनेस एजुकेशन ट्रस्टजो श्रीरामचंद्र मिशन (SRCM) का एकहिस्सा हैयूनाइटेड नेशन्सइनफार्मेशन सेण्टरफॉर इंडियाएंड भूटान(UNIC)की सहभागिता से युवाओंमें मूल्य-आधारित शिक्षाको जीवनके हिस्सेके रूपमें अपनानेके लिएप्रेरित करनेके उद्देश्य से प्रतिवर्षयह कार्यक्रमआयोजित करताहैमहामारीके बावजूददेश भरके 5000 सेअधिक संस्थानोंके 30000 सेअधिक छात्रोंने अंग्रेजीऔर 10 अन्यभाषाओँ मेंवैचारिकप्रदूषण -सभी बीमारियों का मूल कारण’ तथा धनकी कमी ही निर्धनता नहीं होतीजैसे विषयोंपर निबंध लिखकरइस कार्यक्रमकी निरंतरताको बनाएरखा 


हार्टफुलनेस के मार्गदर्शकश्री कमलेश पटेल (दाजी)ने इसअवसर परबोलते हुएकहा, “हमऐसे वातावरण में रह रहे हैं जो जानकारी के बोझ से दबा हुआ हैहमने मननअंतरावलोकन और संवाद की कला को भुला दिया है जिसका गहरा असर युवा पीढ़ी की मानसिकता पर पड़ा हैयह निबंध कार्यक्रम आज के युवाओं में इन मूल्यों को विकसित करने और मूल्यों पर आधारित जीवन जीने के लिए प्रेरित करने का एक प्रयास हैहार्टफुलनेस, शिक्षण के पारंपरिकस्थायी और असरदार तरीकों को संजोते हुए युवा मन में बुद्धिमत्ता की चिंगारी प्रज्ज्वलित कर रहा है ताकि वे भविष्य में एक बेहतर समाज गढ़ सकें|”  

URLife.co.in कीसंस्थापकअपोलोहॉस्पिटल कीवाईस-चेयरपर्सन(CSR)उपासना कामिनेनी नेकहायुवामनों और शैक्षणिकसंस्थानों द्वारा इसमूल्य- आधारित जीवनचर्याको बढ़ावा देनेवाले 28 वर्ष पुरानेआयोजन में निरंतररूचि और लगनबनाए रखना  अत्यंत प्रेरणास्पदहैमनन औरअन्तरावलोकन बेहतर समाजके लिए हीनहीं बल्कि आत्म-कल्याण केलिए भी बहुतजरूरी हैंमैंआप सभी कोबधाई देती हूँऔर आपके बेहतरभविष्य की कामनाकरती हूँ|” 

अभिनव फ्यूचरिस्टिक्स प्राइवेटलिमिटेड केसंस्थापक एवंसीईओ भूतपूर्व ओलम्पिकविजेता अभिनवबिंद्रा ने कहा, “आज के समययुवा मन कोपैना करने वालेकार्यक्रमों की बहुतजरूरत हैयुवाहर क्षेत्र मेंसर्वोत्कृष्ट कर सकेंइसके लिए बेहतरअवसर प्रदान करनाहमारी जिम्मेदारी हैयह कार्यक्रम भीएक ऐसा हीमंच है जहाँलाखों बच्चों कोअपना हुनर दिखानेका अवसर मिलताहै|” 

पुलेला गोपीचंद बैडमिंटनअकादमी केचीफ नेशनलबैडमिंटन कोचपुलेला गोपीचंद नेकहा, “उत्कृष्टताकी नींवचाहेखेलों में होया जीवन मेंहमेशा अच्छे गुणोंपर ही रखीजाती हैहमअपने संस्थान मेंकई विश्वस्तरीय बैडमिंटनखिलाड़ी तैयार कर सकेक्योंकि हमारा पूराध्यान शरीर औरमन के अनुशासनपर रहता हैआज के युवाओंको मार्गदर्शन कीआवश्यकता है किअपने लक्ष्य कीतरफ बढ़ने केलिए अपने मनको किस तरहअनुशासित किया जाए|” 

भारतीय पैरा-बैडमिंटनखिलाड़ी मानसीजोशी ने कहा, “जब हम अपनेभीतर की ताकतसे सम्बन्ध जोड़नासीख लेते हैंतो जीवन मेंआने वाली चुनौतियोंको आसानी सेपार कर लेतेहैंहमारे जीवनके शुरुआती वर्षोंमें ही यहतय हो जाताहै कि हमअपनी जन्मजात क्षमताको किस तरहसर्वोच्च स्तर तकले जाएँभीतरकी ताकत सेजुड़ने के लिएनिरंतर आत्मावलोकन कीजरूरत होती हैऔर यह जरूरीहै कि इसयोग्यता को जितनीजल्दी हो सकेपा लिया जाएमुझे ख़ुशी हैकि इस कार्यक्रमके जरिये हार्टफुलनेसइंस्टिट्यूट देश भरके लाखों युवाओंको प्रेरित करने मेंअपना योगदान देरहा है|” 

वार्षिक “हार्टफुलनेस निबंधलेखन कार्यक्रम” एक अनूठा कार्यक्रमहैइसकाआरम्भ सन 1992 में युवाओंएवं भविष्यके नेतृत्वकर्ताओंके मनको मननसंवाद औरचिंतन केजरिये गढ़नेएवं मूल्यआधारित वैचारिकतासे उनका परिचयकराने केलिए, कियागया थायह आयोजनअपने मित्रोंशिक्षकों औरअन्य लोगोंसे चर्चाकरके विषयकी गहराईमें जानेके लिए छात्रोंको पर्याप्तसमय देताहैप्रतिभागीविषय परमनन औरविचार करकेअपनी सोच केआधार परनिबंध कीरूपरेखा तैयारकरते हैं 

हार्टफुलनेस निबंध-लेखन कार्यक्रम’ के राष्ट्रीय स्तर के विजेताओं की सूची   

इंग्लिश 

श्रेणी 1 

प्रथम पुरस्कार 

कुस्वतंत्रा परमार 

कक्षा 12 

सेक्रेड हार्ट हायर सेकेंडरी स्कूलसीतापुरप्र. 

द्वितीय पुरस्कार  

कुदेवांगना प्रसाद 

कक्षा 12  

वेल्हैम गर्ल्स स्कूलदेहरादूनउत्तराखंड 

तृतीय पुरस्कार 

श्री तैयब इस्माइल  

कक्षा 10 

शारदा विद्यानिकेतनमैंगलोरकर्णाटक  

इंग्लिश 

श्रेणी 2 

प्रथम पुरस्कार 

कुमारुकुक्कू सुप्रिया 

स्नातक छात्रा 

कस्तूरबा गाँधी डिग्री एंड पीजी कॉलेज for वीमेनमरेडपल्लीतेलंगाना 

द्वितीय पुरस्कार 

श्री बाबूजी दंडीगुंटा 

स्नातकोत्तर छात्र 

बिट्स पिलानीनेल्लोरआन्ध्र प्रदेश 

तृतीय पुरस्कार 

कुलिएन ईवा सिक्वेरा 

स्नातक छात्रा 

डॉन बास्को कॉलेजपंजिमगोवा 

हिंदी श्रेणी 1 

प्रथम पुरस्कार 

कुप्रज्ञा जीडी 

कक्षा 11 

गोयनका पब्लिक स्कूलद्वारकादिल्ली 

द्वितीय पुरस्कार 

आश्रय काला 

कक्षा 12 

श्री सत्य साईं विद्या मंदिरइंदौर.प्र. 

तृतीय पुरस्कार 

कशिश चालना 

कक्षा 11  

ब्लूमिंग डेल्स इंटरनेशनल स्कूलश्री गंगानगरराजस्थान 

हिंदी श्रेणी 2 

प्रथम पुरस्कार 

कुचेतना 

स्नातकोत्तर छात्र 

अग्रवाल कॉलेज बल्लभगढ़बल्लभगढ़हरयाणा 

द्वितीय पुरस्कार 

कुकेएमश्वेता मिश्रा 

स्नातक छात्रा 

मनोहरलाल डिग्री कॉलेज फॉर टीचर एजुकेशनग्रामसरोसीप्र. 

तृतीय पुरस्कार 

कुहर्षदा श्रवणकुमार 

स्नातक छात्रा 

विद्या प्रबोधिनी कॉलेज ऑफ़ कॉमर्सएजुकेशनकंप्यूटर एंड मैनेजमेंटबर्देज़गोवा 


हार्टफुलनेस
 कार्यक्रमजीवन में हर तरफ - बदलाव की बयार लाने वाला 

हार्टफुलनेस के बारे में- हार्टफुलनेस ध्यान के सरल अभ्यासों और जीवन शैली में परिवर्तन को सरल ढंग से प्रस्तुत करने वाले इस कार्यक्रम की शुरुआत सबसे पहले बीसवीं सदी के आरम्भ में की गईभारत के हर ह्रदय में शांतिप्रसन्नता और बुद्धिमत्ता लाने के उद्देश्य से 1945 में श्रीरामचन्द्र मिशन के नाम से यह संस्थान औपचारिक रूप से प्रारंभ हुआ जो बाद में एक आध्यात्मिक शिक्षण केंद्र बन गयाहार्टफुलनेस अभ्यासयोग के आधुनिक रूप हैं तथा एक उद्देश्यपूर्ण जीवन की ओर पहले कदम में ही संतुष्टिआंतरिक शांति एवं स्थिरताकरुणासाहस तथावैचारिक स्पष्टता ले आते हैंये सरल अभ्यास सभी समुदायोंधर्मों एवं आर्थिक पृष्ठभूमि से जुड़े 15 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के लोगों के लिए आसानी से अपनाने योग्य हैंहजारों स्कूलों और कालेजों में हार्टफुलनेस अभ्यास का प्रशिक्षण लगातार जारी हैविश्व भर से विभिन्न कार्पोरेट्सशासकीय और अशासकीय प्रतिष्ठानोंके एक लाख से अधिक प्रोफेशनल्स यह ध्यान कर रहे हैं| 160 से अधिक देशों के 5000 से भी अधिक हार्टफुलनेस केन्द्रों में लाखों अभ्यासियों को हजारों स्वयंसेवी प्रशिक्षकों द्वारा प्रशिक्षित किया जा रहा है 

Comments

Popular posts from this blog

कोल्हापूर फिल्म कंपनी 'विठ्ठल दर्शन' अभिनेते जितेंद्र जोशी सादरीकरण करणार

TIME Group & NH STUDIOZ